Question: शादी की तारीख कैसे निकाले?

नाम से शादी की तारीख कैसे निकाले?

कुंडली में जो 7वां घर होता है, वह विवाह के विषय में बताता है। वर अथवा कन्या का जन्म जिस चंद्र नक्षत्र में होता है, उस नक्षत्र के चरण में आने वाले अक्षर को भी विवाह की तिथि ज्ञात करने में प्रयोग किया जाता है। वर-कन्या की राशियों में विवाह के लिए एक समान तिथि को विवाह मुहूर्त के लिए लिया जाता है।

2021 में शादी का मुहूर्त कब है?

1. पहला विवाह मुहूर्त- 01 जुलाई 2021, दिन गुरुवार को विवाह का पहला मुहू्र्त बन रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार, आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि को पहला विवाह मुहूर्त बन रहा है। इस दिन शादी का सबसे शुभ मुहूर्त उत्तराभाद्रपद नक्षत्र (दिवारात्रि) बन रहा है।

विवाह का शोधन कैसे करें?

विवाह में लग्र शोधन को प्राथमिकता दी गई है। अतएव दूसरे विचारों के साथ ही साथ लग्र शुद्धि का विशेष रूप से विचार करना चाहिए। मिथुन, कन्या और तुला लग्र सर्वोत्तम लग्र है, वृषभ, धनु लग्र उत्तम है।, कर्क और मीन मध्यम लग्र है। लतादि दोष: विवाह मुहूर्त में निम्रलिखित 10 लतादि दोषों का विचार विशेष रूप से किया जाता है।

२०२१ में विवाह मुहूर्त कब है?

फिर भगवान विष्णु करेगें सृष्टि का संचालन इसे देवोत्थान एकादशी कहा जाता है। यह वो दिन है जब से शुभ मुहूर्त की शुरूआत हो जाती है। इस दौरान हिन्दू धर्म में विवाह का पहला मुहूर्त 15 नवंबर 2021 को है।

अमृत काल क्या है?

अमृत का चंद्रमा और लाभ का बुध है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है। समयानुसार चौघड़िया को तीन भागों में बांटा जाता है शुभ, मध्यम और अशुभ चौघड़िया। महीने में 15-15 दिन के दो पक्ष होते हैं।

द्विरागमन मुहूर्त कैसे देखें?

मु‍हूर्तमार्तण्‍डग्रन्‍थ के अनुसार विलम्बित वधूप्रवेश एवं द्विरागमन वैशाख, फाल्‍गुन एवं मार्गशीर्ष मास में किया जाता है- वैफामार्गसिते जगु: ( ४/४० ) । वैशाख में मेष का सूर्य,मार्गशीर्ष में वृश्चिक का सूर्य तथा फाल्‍गुन में कुम्‍भ का सूर्य प्रायश: होता है। द्विरागमन में शुक्र का विचार होता है।

भड़ली नवमी 2021 में कब है?

हिंदू पंचांग के अनुसार, आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि अर्थात भड़ली नवमी 18 जुलाई 2021 को तड़के 02: 41 से प्रारंभ हो रही है. जबकि यह 18 जुलाई को ही देर रात 12 बजकर 28 मिनट पर समाप्त हो रही है. पंचांग के अनुसार, भड़ली नवमी के पूरे दिन रवि योग बना हुआ है, उसके बाद साध्य योग देर रात 01 बजकर 57 मिनट तक रहेगा.

दिसंबर में शादी का मुहूर्त कब तक है?

नवंबर और दिसंबर में विवाह के कुल 13 मुहूर्त 15 नवंबर से देवउठनी एकादशी से मांगलिक कार्य प्रारंभ हो जाते हैं। नवंबर में 15 से शुरू होकर 13 दिसंबर तक विवाह के कुल 13 मुहूर्त रहेंगे।

जुलाई में कितना लगन है?

सात से 14 जुलाई के बीच शादी के मुहूर्त हैं। इसके बाद 15 जुलाई से 10 नवंबर तक एक भी विवाह के मुहूर्त नहीं है। इस बार जुलाई में सात और 13 तारीख का ही मुहूर्त है। 15 जुलाई के बाद चातुर्मास लगने से चार माह तक शुभ कार्य नहीं हो सकेंगे।

शुभ मुहूर्त कौन सा होता है?

श्रेष्ठ मुहूर्त : दिन-रात के 30 मुहूर्तों में ब्रह्म मुहूर्त ही श्रेष्ठ है। श्रेष्ठ वार : सात वारों में रवि, मंगल और गुरु श्रेष्ठ है। चौघड़िया : शुभ चौघड़िया श्रेष्ठ है जिसका स्वामी गुरु है। अमृत का चंद्रमा और लाभ का बुध है।

अभी कौन सा मुहूर्त चल रहा है?

श्रेष्ठ चौघडि़ए: आज सूर्योदय से प्रात: 7.58 तक अमृत, प्रात: 9.30 से पूर्वाह्न 11.01 तक शुभ तथा दोपहर बाद 2.04 से सूर्यास्त तक क्रमश: चर, लाभ व अमृत के श्रेष्ठ चौघडि़ए हैं एवं दोपहर 12.08 से दोपहर 12.56 तक अभिजित नामक श्रेष्ठ मुहूर्त है, जो आवश्यक शुभकार्यारम्भ के लिए अत्युत्तम हैं।

विवाह मुहूर्त कब से कब तक है?

7 मुहूर्त नवंबर के महीने में पड़ेंगे और 6 मुहूर्त दिसंबर में होंगे. नवंबर माह में 15, 16, 20, 21, 28, 29, 30 नवंबर को विवाह का शुभ मुहूर्त हैं और दिसंबर के महीने में 1, 2, 6, 7, 11, 13 दिसंबर तक ही विवाह के शुभ मुहूर्त हैं, इसके बाद शादी अगले साल 2022 में ही हो सकेगी.

शुभ मुहूर्त कब से कब तक है?

22 अगस्त को दोपहर 1 बजकर 42 मिनट से शाम 4 बजकर 18 मिनट तक राखी बांधने का शुभ मुहूर्त रहेगा। हिंदू पंचांग के अनुसार, रविवार को सुबह 06 बजकर 15 मिनट से सुबह 10 बजकर 34 मिनट तक शोभन योग रहेगा। इस दिन धनिष्ठा नक्षत्र का भी संयोग बन रहा है। धनिष्ठा नक्षत्र शाम को करीब 7 बजकर 39 मिनट तक रहेगा।

Write us

Find us at the office

Yee- Lancione street no. 98, 92681 Abu Dhabi, United Arab Emirates

Give us a ring

Hawkins Parolisi
+18 246 478 424
Mon - Fri, 10:00-19:00

Say hello